सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Rajendra Prasad Gk | 15 Important Questions related to Rajendra Prasad in Hindi

भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ.राजेंद्र प्रसाद से संबंधित 15 प्रश्न

Rajendra Prasad Gk | 15 Important Questions related to Rajendra Prasad in Hindi

डॉ. राजेंद्र प्रसाद 

1. राजेंद्र प्रसाद का जन्म कब हुआ था ?

उत्तर- 3 दिसम्बर 1884

व्याख्या- राजेन्द्र बाबू का जन्म 3 दिसम्बर 1884 को बिहार के तत्कालीन सारण जिले (अब

 सीवान ) के जीरादेई नमक गाँव में हुआ था |

2. राजेंद्र प्रसाद के माता- पिता का क्या नाम था ?

उत्तर- कमलेश्वरी देवी और महादेव सहाय 

व्याख्या- राजेंद्र प्रसाद के पिता महादेव सहाय संस्कृत एवं फारसी के विद्वान थे एवं उनकी

माता कमलेश्वरी देवी एक धर्मपरायण महिला थीं।

3.  राजेंद्र प्रसाद की पत्नी का क्या नाम था ?

उत्तर- राजवंशी देवी 

व्याख्या- डॉ.राजेन्द्र प्रसाद की शादी केवल 12 वर्ष की उम्र में 1896 में ही हो गई थी।

उनकी पत्नी का नाम राजवंशी देवी था।

4. राजेंद्र प्रसाद ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा कहाँ से की थी ?

उत्तर- छपरा 

व्याख्या- उनकी प्रारंभिक शिक्षा छपरा ( बिहार ) केजिला स्कूल गए से हुई थीं। मात्र

18  वर्ष की उम्र में उन्होंने  कोलकाता विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा प्रथम स्थान से 

पास की और फिर कोलकाता के प्रसिद्ध प्रेसीडेंसी  कॉलेज में दाखिला लेकर लॉ के क्षेत्र

में डॉक्टरेट की उपाधि हासिल की। वे हिन्दी, अंग्रेजी, उर्दू, बंगाली  एवं फारसी भाषा से

पूरी तरह परिचित थे।

5. राजेंद्र प्रसाद ने बिहारवासियों के लिए स्टूडेंट कांफ्रेस की स्थापना कब की थी ?

उत्तर- वर्ष 1906 

व्याख्या- 1906 में डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने बिहारियों के लिए एक स्टूडेंट कॉन्फ्रेंस की

 स्थापना की । यह अपने आप में एक बेहद नए और अलग किस्म का ग्रुप था।

 इतना ही नहीं इस ग्रुप ने बिहार  से समाज को कई बड़े नेता दिए जिसमें श्री कृष्ण

सिन्हा और डॉ. अनुग्रह  नारायण मुख्य हैं ।

6. राजेंद्र प्रसाद ने कोलकाता विश्वविद्यालय के सीनेटर पद से किस वर्ष इस्तीफा

दिया था ?

उत्तर- वर्ष 1921

व्याख्या- राजेन्द्र बाबू महात्मा गाँधी की निष्ठा, समर्पण एवं साहस से बहुत प्रभावित

हुए और 1921 में उन्होंने कोलकाता विश्वविद्यालय के सीनेटर का पदत्याग कर दिया 

7. राजेंद्र प्रसाद को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष पहली बार कब चुना गया 

था ?

उत्तर- वर्ष 1934 

व्याख्या- 1934 में राजेंद्र प्रसाद भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मुंबई अधिवेशन में अध्यक्ष

चुने गये। नेताजी सुभाषचन्द्र बोस के अध्यक्ष पद से त्यागपत्र देने पर कांग्रेस अध्यक्ष

का पदभार उन्होंने एक बार पुन: 1939 में सँभाला था ।

8. 1946  में गठित अंतरिम सरकार में राजेंद्र प्रसाद को कौनसा मंत्रालय दिया गया

था ?

उत्तर- खाद्य एवं कृषि मंत्रालय 

व्याख्या- वर्ष 1946 में डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने खाद्य एवं कृषि मंत्री के तौर पर देश की

सेवा की |

9. राजेंद्र प्रसाद ने अपनी आत्मकथा किस वर्ष में लिखी थी ?

उत्तर- 1946

व्याख्या- राजेंद्र प्रसाद ने अपनी आत्मकथा 1946 में लिखी थी | इसके अलावा 

उन्होंने इंडिया डिवाइडेड, बापू के क़दमों में बाबू, सत्याग्रह एट चंपारण,गांधीजी की

देन, भारतीय संस्कृति व् खादी का अर्थशास्त्र जैसी किताबें भी लिखी हैं |

10. संविधान सभा के स्थायी अध्यक्ष कौन थे ?

उत्तर- राजेंद्र प्रसाद 

व्याख्या- 1946 में  डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को भारतीय संविधान सभा का अध्यक्ष नियुक्त

 किया गया। इससे पहले डॉ. सच्चिदानंद सिन्हा को संविधान सभा का अस्थायी

 सदस्य चुना गयाजिन्होंने 9 दिसंबर 1946 को हुई संविधान सभा की पहली बैठक 

की अध्यक्षता की थी। इसके बाद डॉ. राजेंद्र प्रसाद सभा के स्थायी सदस्य चुने गए।

 संविधान के निर्माण के लिए कुल22 समितियां बनाई गई थीं । इनमें से 29 अगस्त 

1947 को गठित प्ररूप समिति का अध्यक्ष डॉ. भीमराव आंबेडकर को चुना गया |

11. राजेंद्र प्रसाद भारत के राष्ट्रपति कब बने थे ?

उत्तर- 26 जनवरी 1950 

व्याख्या- 26 जनवरी 1950 को भारत को गणतंत्र राष्ट्र का दर्जा मिलने के साथ राजेंद्र

प्रसाद देश के प्रथम राष्ट्रपति बने. साल 1957 में वह दोबारा राष्ट्रपति चुने गए | राजेंद्र

 प्रसाद एकमात्र नेता रहे, जिन्हें 2 बार राष्ट्रपति के लिए चुना गया | 12 साल तक 

पद पर बने रहने के बाद वे 1962 में राष्ट्रपति पद से हटे |

12. राजेंद्र प्रसाद ने किस हिंदी समाचार पत्र में संपादक का कार्य किया था ?

उत्तर- देश 

व्याख्या- राजेंद्र प्रसाद हिन्दी के 'देश' और अंग्रेजी के 'पटना लॉ वीकली' समाचार 

पत्र  का  सम्पादन भी किया था ।

13. राजेंद्र प्रसाद को डॉक्टर ऑफ लॉ की उपाधि किस विश्वविद्यालय ने दी थी ?

उत्तर- इलाहाबाद विश्वविद्यालय 

व्याख्या- इलाहाबाद विश्वविद्यालय द्वारा उन्हें डाक्टर ऑफ ला की सम्मानित उपाधि 

प्रदान की थी |

14. राजेंद्र प्रसाद को भारत रत्न कब दिया गया था ?

उत्तर- वर्ष 1962

व्याख्या- सन 1962 में अवकाश प्राप्त करने पर राष्ट्र ने उन्हें भारत रत्न  की सर्वश्रेष्ठ

उपाधि से सम्मानित किया। यह उस भूमिपुत्र के लिये कृतज्ञता का प्रतीक था जिसने 

अपनी आत्मा की आवाज़ सुनकर आधी शताब्दी तक अपनी मातृभूमि की सेवा की

थी ।

15. राजेंद्र प्रसाद की मृत्यु कब हुई थी ?

उत्तर- 28 फरवरी 1963

व्याख्या- अपने जीवन के आख़िरी महीने बिताने के लिये उन्होंने पटना के 

निकट सदाकत आश्रम चुना । यहाँ पर 28 फ़रवरी 1963 में उनके जीवन की कहानी

समाप्त हुई |



टिप्पणियां